10:52 Mon, Jul 22, 2024 IST
jalandhar
polution 66 aqi
29℃
translate:
Mon, Jul 22, 2024 11.26AM
jalandhar
translate:

संभावित बाढ़ से निपटने के लिए नहीं छोड़ी जाएगी कोई कमी: कोमल मित्तल

PUBLISH DATE: 03-07-2024

संभावित बाढ़ से निपटने के लिए नहीं छोड़ी जाएगी कोई कमी: कोमल मित्तल


- डिप्टी कमिश्नर ने अधिकारियों के साथ तक्खनी काजवे, बसी वाहिद, महिंगरोवाल चोअ व भागोवाल काजवे का दौरा कर बाढ़ सुरक्षा कार्यों का किया निरीक्षण


- कहा, क्षतिग्रस्त काजवे की सुरक्षा को लेकर तुरंत उठाए जाएं पुख्ता कदम


- जिला वासियों को डैम, दरिया, नहर, खड्डों, चोअ व नीचले इलाकों से दूर रहने की अपील की


होशियारपुर/ दलजीत अजनोहा


      डिप्टी कमिश्नर कोमल मित्तल ने कहा कि जिले में संभावित बाढ़ से निपटने के लिए कोई कमी नहीं छोड़ी जाएगी। वे आज गांव तक्खनी, बसी वाहिद के साथ पड़ते महिंगरोवाल चोअ और गांव भागोवाल के काजवे का निरीक्षण करने के दौरान संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उनके साथ एस.डी.एम होशियारपुर प्रीतइंदर सिंह बैंस भी मौजूद थे। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि उन्होंने आज उन स्थानों का निरीक्षण किया जहां पिछले वर्ष पानी आ गया था। उन्होंने कहा कि दौरे का उद्देश्य इन स्थानों पर बाढ़ सुरक्षा कार्यों को और पुख्ता ढंग से करवाना है ताकि लोगों को कोई समस्या न आए।


      डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि संभावित बाढ़ से निपटने के लिए जिला प्रशासन की ओर से सभी पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित बनाए गए हैं ताकि ऐसी स्थिति से सुचारु  ढंग से निपटा जा सके। उन्होंने इस दौरान लोक निर्माण, ड्रेनेज व अन्य अधिकारियों को निर्देश दिए कि पानी के कारण क्षतिग्रस्त काजवे की सुरक्षा को लेकर तुरंत कार्य किया जाए। उन्होंने कहा कि संभावित बाढ़ से लोगों को राहत दिलाने के लिए जहां जिला प्रशासन की ओर से लगातार प्रयास जारी है वहीं बाढ़ के पानी से किसानों की फसल को बचाने के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं।


      डिप्टी कमिश्नर ने गांव बसी वाहिद के साथ लगते महिंगरोवाल चोअ में बाढ़ सुरक्षा कार्यों का निरीक्षण करते हुए ड्रेनेज विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सुनिश्चित बनाए कि बाढ़ का पानी गांव में प्रवेश न करे। उन्होंने जिले के समूह एस.डी.एम्ज को निर्देश दे दिए गए है कि वे अपने उप मंडलों में संभावित बाढ़ जैसी स्थिति से निपटने के लिए पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित बनाएं। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को प्रस्तावित बाढ़ सुरक्षा कार्यों को पूरी गंभीरता से करने के निर्देश दिए। उन्होंने एस.डी.एम्ज, ड्रेनेज विभाग के अधिकारियों को आपसी तालमेल के साथ काम करने के लिए कहा।


कोमल मित्तल ने जिला वासियों को सावधानी अपनाने की अपील करते हुए कहा कि वे डैम, दरिया, नहर, खड्डों, चोअ व नीचले इलाकों से दूर रहे। उन्होंने गुज्जर भाईचारे के लोगों को भी अपील की कि वे अपने पशुओं आदि को इन क्षेत्रों से दूर रखेगा। उन्होंने कहा कि बरसातों के कारण चोअ व दरियाओं में पानी का स्तर काफी बढ़ जाता है। उन्होंने कहा कि आम देखने में आया है कि कुछ लोग चोअ व दरियाओं में नहाने व अन्य कई तरह के काम करने जैसे कि पशुओं आदि को नहाने के लिए ले जाते हैं और कई बार इक्ट्ठे होकर बहता पानी देखने व वीडियो बनाने चले जाते हैं, जिस कारण कई बार अप्रिय घटना घट जाती है। उन्होंने एस.डी.एम्ज व ड्रेनेज विभाग के अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं कि वे प्रभावित गांवों का चुनाव करने के साथ-साथ दरियाओं /धुस्सी बांधों का तुरंत जायजा ले। इस मौके पर एक्सियन ड्रेनेज दमनदीप सिंह, एस.डी.ओ ड्रेनेज करनदीप सिंह के अलावा अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।