02:40 Thu, Jun 13, 2024 IST
jalandhar
polution 66 aqi
29℃
translate:
Thu, Jun 13, 2024 11.26AM
jalandhar
translate:

मोहल्ला संतोख पुरा के निवासियों ने श्री गुरु रविदास समाज सुधार सभा के अध्यक्ष के खिलाफ  शिकायत की।

PUBLISH DATE: 07-06-2024

मोहल्ला संतोख पुरा के निवासियों ने श्री गुरु रविदास समाज सुधार सभा के अध्यक्ष के खिलाफ  शिकायत की।


 


मोहल्ला संतोखपुरा के निवासी तारेसम लाल, सवारनदास, मदन लाल मद्दी, विजय कुमार, मनोज कुमार परमीत बिल्ला, गुरप्रीत और रेशम मल्लू, चमन लाल आदि आज सुबह श्री गुरु रविदास समाज संप्रथा सभा (रजिस्टर 39) के अध्यक्ष ख़िलाफ़ डिप्टी कमिश्नर जालंधर से मिले। अध्यक्ष एवं पूर्व पार्षद एवं आप नेता श्री हंसराज राणा   लिखित शिकायत दर्ज कर इस का पू चुनाव कराने की मांग की है।उपरोक्त गांव के निवासियों ने डीसी जालंधर साहिब को सूचित किया कि श्री गुरु रविदास समाज सभा (रजिस्टर) संतोख पुरा का चुनाव पिछले 25 वर्षों से नहीं हुआ है और यही समिति गुरुद्वारा श्री गुरु रविदास जी का पूरा प्रबंधन देख रही है। 25 वर्षों तक, जिसके अध्यक्ष  पूर्व पार्षद हंस राज राणा हैं।



उनकी मनमानी से पूरा मुहालम परेशान है। वे अपने राजनीतिक दृष्टिकोण और दबंगई के कारण कमेटी का चयन नहीं होने दे रहे हैं और सब कुछ अपने हिसाब से कर रहे हैं. उनके द्वारा गुरु की गोलक का प्रयोग नहीं किया जा रहा है तथा गुरुद्वारा साहिब का कोई भी वित्तीय लेखा-जोखा सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है। प्रधान साहब से जब भी गांव के प्रभावशाली लोग नई कमेटी चुनने के लिए कहते हैं तो उनका एक ही जवाब होता है कि इस गुरुपर्व के बाद मैं चेयरमैनी छोड़ दूंगा, लेकिन होता कुछ नहीं। रुद्वारा साहिब में अभी तक एयर कंडीशनिंग का काम भी नहीं हुआ है और दरवाजे टूटे हुए हैं। उक्त प्रधान ने कई लोगों से एसी लगवाने के लिए पैसे भी लिए हैं, लेकिन तीन साल से एसी खराब है।


 इसके अलावा सुबह के समय लाउडस्पीकर लगाने से जहां आसपास के लोगों को परेशानी होती है, वहीं पढ़ने वाले बच्चों की पढ़ाई में भी बाधा उत्पन्न होती है।  मोहल्ला निवासियों ने डी. सी साहब को बताया है कि आपको 23-4-2024 को पत्र लिखा जा चुका है, यहां यह भी बताना होगा कि इस संबंध में 21 अप्रैल 2024 को सभी मोहल्लेवासी  सर्वसम्मति से मतदान करेंगे जिस मे सभी को बुलाया गया, जिसमें दो घंटे तक इंतजार के बावजूद अध्यक्ष हंसराज राणा शामिल नहीं हुए। समाचार पत्रों में राष्ट्रपति द्वारा कहा गया है कि उनका चयन 31 सदस्यीय समिति द्वारा किया गया है, लेकिन दुर्भाग्य से सूचना के अधिकार के तहत रजिस्ट्रार सोसाइटी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, श्री गुरु रविदास के केवल 7 सदस्य हैं समाज प्रथार सभा (रजिस्टर 39), इनमें से एक सदस्य की मृत्यु हो चुकी है


और दो सदस्यों को कभी देखा नहीं गया है, इस समिति के संविधान में यह कहीं भी नहीं लिखा है कि यह समिति गुरुद्वारा साहिब का रखरखाव करेगी और गुरु के गोलक का पैसा खर्च करेगी। इस शिकायत को सुनने के बाद माननीय डीसी जालंधर द्वारा जल्द ही इस समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया गया।